रविंद्र जडेजा का टी20 वर्ल्ड कप से बाहर होना भारत के लिए बड़ा झटका, क्या ये दो खिलाड़ी कर पाएंगे भरपाई?


टीम इंडिया को शनिवार को एक बेहद बुरी खबर मिली जब ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) चोट की वजह से एशिया कप से बाहर हो गए। सिर्फ इतना ही नहीं, वह टी20 विश्व कप 2022 से भी बाहर हो गए हैं। 

हाल ही में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन मैच के बाद खबर आई कि वे चोटिल हो गए हैं और एशिया कप के बचे हुए मैचों में नहीं खेल पाएंगे। 

बीसीसीआई ने आधिकारिक तौर पर उनके बाहर होने का ऐलान नही किया है पर एनसीए की रिपोर्ट ने साफ कर दिया है कि उनकी चोट गंभीर है। रविंद्र जडेजा के घुटने में चोट लगी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वे अब टी20 विश्व कप के बाद ही मैदान पर वापसी कर पाएंगे।

रविंद्र जडेजा का बीते कुछ समय में भारत के लिए योगदान अमूल्य रहा है। 2020 की शुरुआत से देखे तो जडेजा ने बल्लेबाजी में 58.80 की औसत से रन बनाए है और उनका स्ट्राइक-रेट 145.54 का रहा है। साथ ही गेंदबाजी में उन्होंने 16 विकेट लिए हैं वो भी 6.66 की शानदार इकोनॉमी रेट से। 

रविंद्र जडेजा के बाहर होने से टीम के लिए बड़ी नुकसान वाली बात है। अब उनके ना होने से भारत एक दो खिलाड़ियों पर निर्भर है, जो टीम में जडेजा की जगह लेंगे। 

पहला विकल्प: अक्षर पटेल

रविंद्र जडेजा के बाहर होने से सबसे पहला नाम जो टीम में आता है वो है अक्षर पटेल का। पेशे से पटेल बॉलिंग ऑलराउंडर है। लेकिन उनकी काबिलियत फिलहाल जडेजा जितनी नही है। उनका बल्लेबाजी औसत 20 से भी कम का है, लेकिन स्ट्राइक-रेट 150 के आस-पास है। 

हाल ही के मैचों की बात करे तो गेंदबाजी में पटेल उपयोगी साबित हुए हैं, हालांकि फील्डिंग में वह जडेजा से मीलों पीछे हैं। रविंद्र जडेजा दुनियाभर में अपनी बेहतरीन फील्डिंग के लिए जाने जाते हैं, इस मामले में पटेल काफी पीछे हैं। अक्षर पटेल की बैटिंग अभी जडेजा जितनी अच्छी नहीं हुई है। जडेजा के बाहर होने से भारत की बल्लेबाजी में गहरायी कम हो गई है। 

दूसरा विकल्प: दीपक हुड्डा

दूसरे विकल्प की बात करे तो नाम आता है दीपक हुड्डा का। दीपक हुड्डा कुछ समय से भारतीय टीम से जुड़े हुए हैं और बल्ले से कमाल कर रहे हैं। आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद उन्होंने भारत के लिए भी अच्छा योगदान दिया और हाल ही में आयरलैंड के खिलाफ एक शतक भी लगाया। 

उनका बल्लेबाजी औसत 54.89 और स्ट्राइक-रेट 161.17 का है। बॉलिंग में भी दीपक हुड्डा ने प्रति बॉल एक रन से कम खर्च किया है। जरूरत पड़ने पर वह गेंद से टीम को अच्छी सहायता प्रदान करते हैं। लेकिन उनके टीम में शामिल होने से जडेजा की जगह नही भारी जा सकती है। ऊपर से दीपक हुड्डा दांए हाथ के खिलाड़ी है, जिस वजह से वह लेफ्टी-राइटी संयोजन प्रदान नही कर सकते, जो कि जडेजा करते आ रहे थे। 

0/Post a Comment/Comments