कमेंटेटर से दुनिया के नंबर 1 फिनिशर कैसे बने दिनेश कार्तिक, इन 2 दिग्गज को दिया श्रेय, कहा- ‘इन्होने बहुत मदद की’


दिनेश कार्तिक (DINESH KARTHIK) टीम इन दिनों टीम इंडिया के शानदार फिनिशर बने हुए हैं. इस बात का मुज़ाहरा उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए दूसरे मैच में लगातर दो बाउंड्री लगाकर किया. जब टीम इंडिया को आखिरी ओवर में 9 रनों की दरकार थी, तब दिनेश कार्तिक(DINESH KARTHIK) ने एक छक्का और एक चौका लगाकर मैच खत्म कर दिया. दिनेश कार्तिक ने बताया कि वो इन सबके लिए अधिक अभ्यास नहीं करते हैं, वो सिर्फ कुछ चीज़ों पर ही ध्यान देते हैं.

इन 2 दिग्गजों को दिया श्रेय

दिनेश कार्तिक(DINESH KARTHIK) से जब उनकी तैयारियों को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा, “मैं लंबे समय से इसका अभ्यास कर रहा हूं. मैंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के लिए ऐसा किया और अब भारत के लिए कर रहा हूं. मुझे खुशी है मैंने यहां ऐसा किया. यह मेरी दिनचर्या का हिस्सा है. मैं इस तरह की परिस्थितियां तैयार करके अभ्यास करता हूं और राहुल द्रविड़ व विक्रम राठौड़ भाई भी इसमें मेरी मदद करते हैं.”

मैं ज़्यादा अभ्यास नहीं करता

दिनेश कार्तिक(DINESH KARTHIK) ने आगे कहा, “मैं बहुत अधिक अभ्यास नहीं करता लेकिन जहां तक संभव हो कुछ खास चीजों पर ध्यान देता हूं.” इससे पहले भी दिनेश कार्तिक भी टीम इंडिया के लिए फिनिशिंग पारी खेल चुके हैं. उन्होंने आगे कहा, “यह ऐसा है जिसको हम आजमा रहे हैं. कुछ अवसरों पर कुछ ओवर बचे होते हैं जिनमें अक्षर पटेल स्पिनरों पर हावी होकर खेल सकता है. इसके पीछे तर्क यही है उस चरण में बाएं हाथ के बल्लेबाज और लेग स्पिनर का अच्छा मुकाबला होगा, इसलिए कुछ अवसरों पर हम यह विकल्प आजमाते हैं.”

रोहित शर्मा को बताया बेस्ट

इस मैच में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने 20 गेंदों में 46 रनों की पारी खेली थी. उन्होंने रोहित शर्मा के बारे में बात करते हुए कहा, “यह ऐसा है जिसको हम आजमा रहे हैं. कुछ अवसरों पर कुछ ओवर बचे होते हैं जिनमें अक्षर पटेल स्पिनरों पर हावी होकर खेल सकता है. इसके पीछे तर्क यही है उस चरण में बाएं हाथ के बल्लेबाज और लेग स्पिनर का अच्छा मुकाबला होगा, इसलिए कुछ अवसरों पर हम यह विकल्प आजमाते हैं.”

इसके बाद हार्दिक पांड्या के बारे में बात करते हुए दिनेश कार्तिक ने कहा, “हार्दिक जैसे बहुत कम खिलाड़ी होते हैं जो टीम को संतुलन प्रदान करते हैं. भारत भाग्यशाली है कि उसके पास हार्दिक जैसा खिलाड़ी है.”

0/Post a Comment/Comments